Monday, January 3, 2011

'बेलदार को स्पेनिन साहित्य गौरव सम्मान'

 झारखंड के प्रतिष्ठित शिक्षन संस्थान स्पेनिन रांची द्वारा हिन्दी साहित्य की समृद्धि में योगदान के लिए श्याम कुमार पोकरा के उपन्यास 'बेलदार' को स्पेनिन साहित्य गौरव पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। पिछले दस वर्षो में प्रकाशीत हिन्दी उपन्यासों में स्पेनिन द्वारा बेलदार को सर्वश्रेष्ठ कृति घोषित किया गया है।
दिनांक २७ नवम्बर २०१० को एक भव्य समारोह में रांची विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति डॉ. शीन अखतर व रांची विश्वविद्यालय के पत्रकारिता विभाग की निदेद्गाक डॉ. ऋता शुक्ल ने ग्यारह हजार एक रूपये का चेक, , स्मृति चिन्ह, प्रद्गास्ति पत्र में स्पेनिन ने कहा कि प्राप्त कुल छत्तीस उपन्यासों में से बेदार को सर्वश्रेष्ठ कृति चुना गया है। निर्णायक मंडल की वरिष्ठ सदस्य डॉ. माया प्रसाद ने बेलदार पर अपना वक्तव्य देते हुए कहा कि यह उपन्यास राजस्थान की पत्थर की खदानों के मजदूरों की जीवन परिस्थतियों को बहुत ही सुक्ष्मता पूर्वक प्रस्तुत करता है।

3 comments:

Balram Agarwal said...

Shyam Kumar Pokra ko navvarsh aur samman dono ki bahai.

नया सवेरा said...

... badhaai va shubhakaamanaayen !!

Rohit joshi said...

ब्‍लॉग्‍स की दुनिया में मैं आपका खैरकदम करता हूं, जो पहले आ गए उनको भी सलाम और जो मेरी तरह देर कर गए उनका भी देर से लेकिन दुरूस्‍त स्‍वागत। मैंने बनाया है रफटफ स्‍टॉक, जहां कुछ काम का है कुछ नाम का पर सब मुफत का और सब लुत्‍फ का, यहां आपको तकनीक की तमाशा भी मिलेगा और अदब की गहराई भी। आइए, देखिए और यह छोटी सी कोशिश अच्‍छी लगे तो आते भी रहिएगा


http://ruftufstock.blogspot.com/